शनिवार, 20 मई 2017

मोहब्बत पे यकीं

एक मुसलसल सी कमी बाकी रख!
पावों तले थोड़ी सी जमीं बाकी रख!!

ठोकरों से संभलना सीख ले "साथी"!
आंखों में थोड़ी सी नमी बाकी रख!!

महबूब को बेबफा न कहा करो यूँ ही,
मोहब्बत पे थोड़ा सा यकीं बाकी रख!!

@अरुण साथी 21/05/17

बुधवार, 19 अप्रैल 2017

अफ़ीम

अफ़ीम
**
भूख
गरीबी
बेरोजगारी
अशिक्षा
से बिलखते
माँ भारती के बच्चों को
वे बड़ी आसानी से सुला देते है,
**
ये राजनेता
जागने से पहले ही
बच्चों को फिर से
धर्म की अफ़ीम चटा देते है..
@arunsathi

शनिवार, 15 अप्रैल 2017

साथी के बकलोल वचन

दहेज प्रथा
बाल विवाह
जात-पात
खतम करे के
नीतीश जी
के जगलो हें चाह,

मने की,
पोलटिक्स छोड़
साहेब पकड़ता अब
सन्यास आश्रम के राह..

#साथी के #बकलोल_वचन

शुक्रवार, 14 अप्रैल 2017

शगल

जिंदगी का अजीब फ़लसफ़ा है,
हर एक आदमी दूसरे से खफा है!

गैरों के गुनाहों का बही-खाता है सबके पास,

बस अपने गुनाहों का हिसाब रफा-दफा है!

तौहीन करने का शगल ऐसा है उनका,
खुद ही तोहमत लगा लेते कई दफा है!

किसपे करूं यकीन कहो तो "साथी",
करो भरोसा जिसपे मिलती जफ़ा है!!

गुरुवार, 13 अप्रैल 2017

बिना पेंदी का लोटा

जबसे कजरी
बिना पेंदी का लोटा हुआ,
तब से एक एक
वोट का टोटा हुआ..

2

उम्मीद टूटने बालों
का लगा है श्राप,
जमानत जप्ती का
रिकॉर्ड बना रही "आप"..

#साथी के #बकलोल_वचन

परजीवी

परजीवी
****
यार-दोस्त
भाई-बंधु
समान होता है,

और साथ रहकर
आदमी खून चूस
खोखला कर देता है..

साथी के बकलोल वचन
🙈🙊🙉

सोमवार, 10 अप्रैल 2017

उपदेश

जिनके हाथ खून से सने होते हैं, हाय !! वे भी गांधीवाद का उपदेश देते हैं!!

मंगलवार, 4 अप्रैल 2017

हे राम

हे राम

अपने जीवन में
राम के आदर्शों को
रत्ती भर भी
नहीं उतार रहे हैं,

वैसे लोग भी
चौक-चौराहे पर
जय श्रीराम
चिंघाड़ रहे हैं ...

कैसा कलिकाल
आया अब तो
रावण के वंशज ही
धर्म ध्वजा लेकर
राम को मार रहे हैं...

सोमवार, 27 मार्च 2017

नया खुदा चुन लें..

दुनिया की आबोहवा में जहर बहुत है,
चलो अब मुठ्ठी भर ताजी हवा चुन लें!!

मजहब तो नफ़रत बंटता है आजकल,
चलो अब कोई नया खुदा चुन लें!!

काम जिनका है कातिलों का "साथी",
चलो अब रास्ते उनसे जुदा चुन लें!!

रविवार, 26 मार्च 2017

जख्मों का हिसाब मत रख..

जिंदगी में जख्मों का हिसाब मत रख।
गम के पन्ने हो, वैसी किताब मत रख।।

बच्चों की तरह जीता चल जिंदगी।
चेहरे पे कोई भी नकाब मत रख।।

जिससे है शिकवा तो बता दे उसको।
दिल में छुपा के आफताब मत रख।।

शुक्रवार, 10 मार्च 2017

यूपी के बौराल होली

यूपी के बौराल होली
(अरुण साथी)
यूपी वाला पे फगुआ के
चढ़लो ऐसन उमंग,
दबा दबा के ईवीएम के
कैलक खूब हुड़दंग
जोगीरा सारा रा रा...

मोदी जी भी पी
लेलका जैसे भंग,
बोल-कुबोल से छोड़ा
देलका यूपी के जंग
जोगीरा सारा रा रा...

सोंच रहल हे बबुआ
बाबू-चाचा से कैलक काहे जंग
चिंता में डूबल डिम्पल भौजी
केकरा डाले रंग
जोगीरा सारा रा रा...

रो रहल हे राहुल बाबा
मम्मी जी के संग
बहिन जी के ब्लड प्रेशर बढ़ गेल
केजरी कहलक "जनता है मन-मतंग"
जोगीरा सारा रा रा...



मंगलवार, 14 फ़रवरी 2017

बंदरी का वेलेंटाइन विश


(अरुण साथी)

आंय जी,
प्रेम विवाह के
दो दशक हुए आपने मुझे
कभी वेलेंटाइन विश नहीं किया..!

मैंने कहा, बंदरी
आजकल के लौंडे
कई को विश करते है।

एक को कॉल तो
दूसरी को मिस करते है।

तीसरी से व्हाट्सअप
तो चौथी से फेसबुक पे
चैटिंग है,
नए दौर के मजनुओं का
दर्जनों से सेटिंग है..

मेरे जैसा प्रेम करके
पत्नीव्रता होना
बकलोली है,

इसी लिए तो आपकी
इतनी बढ़ी हुई बोली है!

प्रेम प्रदर्शन नहीं
आत्माओं का मिलन है।

प्रेम ईश्वर का
प्रसाद है।

प्रेम समर्पण
और त्याग है।

बस क्या
बंदरी ने किस किया,
मुझको भी वेलेंटाइन विश किया..!





मंगलवार, 31 जनवरी 2017

वजूद

वजूद
**
तेज ताप से
खौल उठता है
वजूद...

और उधियाने
लगता है

तभी कोई अपना
पानी का छींटा देकर
संभल लेता है..
उधियाते वजूद को..

(तस्वीर को कैद करते हुए दो शब्द गढ़ दिए..)
@अरुण साथी

रविवार, 29 जनवरी 2017

मौत से पहले..

मौत से पहले...

बहुत भचर-भचर करते हो
मार दिए जाओगे
एक दिन
उन्हीं लोगों की तरह..

लगी होगी एक-आध गोली
पीठ में, सीने में
या कनपट्टी के आसपास कहीं..

बीच सड़क पे
बिखर जायेगा तुम्हारी रगो
का खौलता हुआ खून
और लहू का लाल रंग
काली तारकोल से मिलकर
गडमड रंग का हो जायेगा...

हाँ, कुछ लोग आएंगे
सहानुभूति जताएंगे
पर कुछ लोग वहीं
लाश के सिरहाने ही
गाली भी देंगे
कुछ बुरा,
कुछ भला कहेंगे..

क्यों और किसके लिए
यह सब करते हो...

उपरोक्त आत्मीय
वचनों के बीच के
अंतर्मन में
नाद गूँज उठा

"मौत से पहले कौन मरा है?"
"मौत आने पर कौन बचा है..?"




शुक्रवार, 13 जनवरी 2017

साथी के बकलोल वचन

"अहिंसा परमो धर्मः"
कहने वाले गाँधी की
तस्वीर खादी से मिटा दी....

हंगामा क्यों है बरपा
जो उन्होंने अपनी
फितरत बता दी.….

#साथी के #बकलोल_वचन