शनिवार, 20 फ़रवरी 2010

क्षणिकाऐं

क्षणिकाऐं
1
साक्षेदारी

साक्षेदारी
नहीं करने में समझदारी

2
मोहब्बत

मोहब्बत
बस मिल जाये सोहबत
यही है आधुनिक मोहब्बत।

3
आधुनिक प्रेम

आधुनिक प्रेम
रात भर के लिए प्रेमिका
फिट करने का फ्रेम।

3 टिप्‍पणियां:

  1. अच्छा है...
    सच्चा है...
    कविता है या कविता का बच्चा है...

    बहुत ही बढ़िया...

    उत्तर देंहटाएं
  2. आधुनिक प्रेम
    रात भर के लिए प्रेमिका
    फिट करने का फ्रेम।
    .........
    कम शब्दों में भरी पूरी बात कह डाली आपने......बधाई!

    उत्तर देंहटाएं