शुक्रवार, 19 मार्च 2010

राम की हत्या

पड़ी है राम की लाश
नाभी में मारा गया ``बाण´´
हनुमान ने निभाई
विभीषण की भूमिका

बतलाया रावण को
राम के अमृत कलश का राज
बतलाया कि राम तभी मर सकते है
जब उनके भक्त ही उन्हें मारेंगेें।

यह भी कि
उनके घर में ही उनकी हत्या की जा सकती है।

प्रगल्भ रावण ने स्वांग रचा
रामभक्त का
और पाषण्डी हनुमान के साथ
घुस कर अयोध्या में
कर दी ``राम की हत्या´´......

1 टिप्पणी:

  1. प्रगल्भ रावण ने स्वांग रचा
    रामभक्त का
    और पाषण्डी हनुमान के साथ
    घुस कर अयोध्या में
    कर दी ``राम की हत्या´´......
    Yahi vidambana hai!

    उत्तर देंहटाएं