रविवार, 14 अगस्त 2011

अन्ना तुम संधर्ष करो हम तुम्हारे साथ है। कस्बाई इलाकों मे गुंजी अन्ना की आवाज।



शेखपुरा
अन्ना ने 16 अगस्त से शुरू होने वाले अनशन को देश की दूसरी आजादी का नाम दिया है और इसी दूसरी आजादी में अन्ना के साथ देने का शंखनाद की गूंज दिखी 15 अगस्त को। छोटे छोटे स्कूली बच्चों ने भ्रष्टाचार भारत छोड़ों के नारे के साथ अन्ना का साथ देने के लिए अपनी आवाज बुलंद। बच्चों ने अपने हाथों से कॉमनबेल्थ धोटाले का कार्टून बना कर भ्रष्टाचार पर प्रहार किया और साथ ही तिरंगा झंडे को हाथों में लहरा कर भ्रष्टाचार भारत छोड़ों का नारा बुलंद किया। 

छोटे छोटे नन्हें मुन्हें बच्चों ने आवाज बुलंद करते हुए अन्ना को संधर्ष करने का आहवान कर रहे थे तो अन्ना के आंदोलन का समर्थन कस्बाई इलाके होने से इस आंदोलन की सार्थकता को समझा जा सकता है।

9 टिप्‍पणियां:

  1. स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  2. स्वतंत्रता दिवस की शुभकानाएं. योगदान छोटा ही सही, देना ही होगा.
    --आजादी के मायने और असली आजादी. - http://goo.gl/Q8I6M

    उत्तर देंहटाएं
  3. स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं….!

    उत्तर देंहटाएं
  4. arun जी अन्ना के आन्दोलन को साथ देने की आवाज़ तो कस्बाई इलाकों में उठी है किन्तु इस आवाज़ में कितना दम है ये हम सभी जानते हैं नन्हे मुन्नों की बात तो अलग है उन्हें तो अभी जीवन क्षेत्र में उतरना है किन्तु अधिकांश जो इसमें उनके साथ हाथ आ रहे हैं उनके हाथ तो खुद भ्रष्टाचार से रंगे हैं इसी कारण अन्ना का आन्दोलन सफलता को छूएगा इसमें अभी संदेह ही है.
    वह दिन खुदा करे कि तुझे आजमायें हम

    उत्तर देंहटाएं
  5. आन्दोलन का समर्थन एक उम्मीद जगा रहा है...

    उत्तर देंहटाएं
  6. अन्ना का आन्दोलन देश में सभी के लिए एक उम्मीद की लौ जगा गया है ...

    उत्तर देंहटाएं
  7. मैंने भी माथे पर लगाया है तिरंगा,
    भले ही हूं मैं भूखा नंगा।
    मेरे चेहरे पर भी देख
    लो आजादी की खुशी,
    देखो औ देश के रहनुमाओं
    यह है दर्द में डूबी हुई हंसी।

    बहुत खूब ....!!

    अरुण जी बहुत अच्छी क्षणिका है ....
    आपसे गुजारिश है अपनी १०,१२ क्षणिकायें सरस्वती-सुमन पत्रिका के लिए भी मुझे दीजिये
    ये क्षणिका विशेषांक है जिसकी अतिथि संपादिका मैं हूँ ....
    अपने संक्षिप्त परिचय और तस्वीर के साथ भेज दें ....

    harkirathaqeer@gmail.com

    उत्तर देंहटाएं
  8. अच्छा सन्देश दिया है.
    यदि मीडिया और ब्लॉग जगत में अन्ना हजारे के समाचारों की एकरसता से ऊब गए हों तो कृपया मन को झकझोरने वाले मौलिक, विचारोत्तेजक आलेख हेतु पढ़ें
    अन्ना हजारे के बहाने ...... आत्म मंथन http://sachin-why-bharat-ratna.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  9. nice post, thanks

    कृपया मेरे ब्लॉग पर भी पधारने का कष्ट करें .

    उत्तर देंहटाएं