गुरुवार, 4 नवंबर 2010

अंधकार का अपना अस्तित नहीं होता, जहां कहीं भी रौशनी होगी, अंधकार नहीं होगा......आचार्य रजनीश. .

अंधकार का अपना अस्तित नहीं होता, जहां कहीं भी रौशनी होगी, अंधकार नहीं होगा......आचार्य रजनीश.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.




रौशनी के पावन पर्व की मंगलकामनाऎं.............

5 टिप्‍पणियां:

  1. सुख औ’ समृद्धि आपके अंगना झिलमिलाएँ,
    दीपक अमन के चारों दिशाओं में जगमगाएँ
    खुशियाँ आपके द्वार पर आकर खुशी मनाएँ..
    दीपावली पर्व की आपको ढेरों मंगलकामनाएँ!

    -समीर लाल 'समीर'

    उत्तर देंहटाएं
  2. दीपावली का ये पावन त्‍यौहार,
    जीवन में लाए खुशियां अपार।
    लक्ष्‍मी जी विराजें आपके द्वार,
    शुभकामनाएं हमारी करें स्‍वीकार।।

    उत्तर देंहटाएं
  3. एकदम विज्ञान सरीखा। काला रंग स्वयं में कोई रंग नहीं होता। किसी रंग का न होना ही कालापन है।

    उत्तर देंहटाएं